गर्मियों में शिशु की ऐसे करे देखभाल

गर्मी का महीना ना केवल बड़ों की बैड बजा देता है बल्‍कि छोटे बच्‍चों और शिशुओं को भी काफी परेशान कर देता है। वैसे तो गर्मी का मौसम बड़ा ही अच्‍छा होता है लेकिन गर्मी के साथ आने वाली बीमारियां और सूरज की तपन किसी को भी अच्‍छी नहीं लगती। अगर आपके घर पर शिशु है, तो गर्मी में उसका खास ख्‍याल रखने की आवश्‍यकता होगी। शिशु के लिये गर्मी झेलना बड़ा ही मुश्‍किल होता है। इस दौरान अपने बच्‍चे की मदद करें और उन्‍हें इस तपती-जलती गर्मी में आराम महससू करवाने की पूरी कोशिश करें। गर्मियों में शिशु की ऐसे करें देखभाल

1. अपने शिशु को सही कपड़े पहनाइये-

गर्मियों में कॉटन के कपड़े ज्‍यादा आरामदायक होते हैं। दूसरा फैबरिक शिशु को परेशान कर सकता है क्‍योंकि उसमें गर्मी अंदर तक बैठ जाती है और जल्‍दी निकल नहीं पाती। इस वजह से बच्‍चे के शरीर पर रैश पड़ जाते हैं और खुजली मचने लगती है।

2. लगातार डायपर बदलें-

वैसे तो यह काम हर तीन घंटे के बाद करना चाहिये। गर्मियों में इस बात का खास ख्‍याल रखना चाहिये नहीं तो डायपर में गीलेपन की वजह से बैक्‍टीरिया फैल सकता है और बच्‍चे की त्‍वचा पर रैश पैदा हो सकते हैं। बच्‍चे को नया डायपर पहनाने से पहले उसे पाउडर लगा देना चाहिये और फिर डायपर पहनाना चाहिये।

3. बेबी को हाइड्रेट रखें-

इन दिनों बच्‍चे को खूब सारा पानी और फलों का रस पिलाएं नहीं तो उन्‍हें पानी की कमी की वजह से भूख लगना बंद हो जाएगी और कब्‍ज की समस्‍या पैदा हो जाएगी। स्‍तनपान करवाते समय बचें इन गैस बनाने वाले आहारों से

4. ना लगाएं मसाज ऑइल-

गर्मी में अगर आप रोजाना बच्‍चे की मसाज करेगीं तो उनकी त्‍वचा पर रैश और खुजली होने लगेगी। अगर त्‍वचा को ठीक से साफ ना किया गया तो वह परत दर परत जमती चली जाएगी और वहां पर गर्मी की वजह से खुजली तथा फोड़े-फुंसी निकलने लगेगें।

5. बच्‍चे को रोज नहलाएं-

गर्मी में अपने बच्‍चे को एक भी दिन नहलाना ना भूलें। इससे उनका मूड अच्‍छा बना रहेगा और उन्‍हें बहुत ही अच्‍छी नींद आएगी।

6. रूम का टंपरेचर स्थिर रखें-

अगर आपको AC इस्‍तमाल करने की आदत है , तो रूम के टंपरेचर 24 डिग्री तक रखें। बार बार टंपरेचर को बदलने से आपको शिशु को सर्दी और खांसी हो सकती है। साथ ही अपने बच्‍चे को नहला कर तुरंत AC के सामने ना बैठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *