प्रेगनेंसी से पहले लाइफस्टाइल में ये बदलाव हैं ज़रूरी

जब भी आप अपना परिवार बढ़ाने की सोचते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिये कि आपकी और आपके साथी का स्वास्थ्य अच्छा हो ताकि आपकी गर्भावस्था सफल हो सके। इसके के लिए आपको अपनी डाइट, वज़न, काम-व्यक्तिगत जीवन के बीच संतुलन, स्ट्रेस मैनेजमेंट और व्यायाम का बहुत ख्याल रखना चाहिय क्योंकि इन सभी चीज़ों से आपकी गर्भावस्था और फर्टिलिटी पर बहुत असर पड़ता है।

अपने वज़न को नियंत्रित रखें – इसके लिए यह बहुत ज़रूरी है कि आप और आपके साथी अपना वज़न सही रखें और आप दोनों का बीएमआई 25kg/cm2 से कम हो। इसका मतलब यह है कि आप जो भी खा रहे हैं वो बहुत सोच समझकर खाएँ और आपको केवल इस बात का ख्याल नहीं रखना कि आप कितनी कैलोरीज खा रहे हैं और कितनी कैलोरीज बर्न कर रहे हैं बल्कि आपको इस बात का भी ख्याल रखना चाहिय कि आप जो भी खा रहे हैं उसमे न्यूट्रिशन की पूर्ण मात्रा हो।

एक्टिव बनें – आप कितने स्वस्थ हैं उसमे व्यायाम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है और इससे ना केवल आप अधिक कैलोरीज बर्न कर सकते हैं बल्कि इससे आपके इन्सुलिन का स्तर भी ठीक रहता है और आपका तनाव कंट्रोल में रहता है। आदर्श रूप से आपको दिन में से कम से कम 30 मिनट के लिए व्यायाम अवश्य करना चाहिय। इसके लिए आपको बहुत मेहेंगे मेहेंगे गिम में जाने की या बहुत मेहेंगे मेहेंगे उपकरण खरीदने की ज़रूरत नहीं है। अगर आप रोज़ ब्रिस्क वाक करेंगे या साथ मिलकर योगा करेंगे, तब भी आपको बहुत अधिक परिणाम देखने को मिलेंगे।

स्वस्थ चीज़ें खाएँ और कैफीन की मात्रा पर ध्यान दें – बहुत अधिक कार्ब्स और शुगर खाने से, जिसका आपके स्वास्थ्य पर कोई अच्छा असर नहीं होता, बेहतर होगा कि आप सोच समझकर अपनी मील्स और स्नैक्स खाएँ। अपनी मील्स में कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन्स और गुड फैट की मात्रा को बढ़ायें। इसके साथ ही आपको अपनी कॉफ़ी की इन्टेक का बहुत ख्याल रखना चाहिय और इसकी जगह आप ग्रीन टी चुने।

अपना स्ट्रेस मैनेज करें – हम समझते हैं कि ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे आप अपनी रोज़ की ज़िन्दगी से पीछा छोड़ सकें और इसके लिए आपको अपने तनाव को मैनेज करने के तरीके ढूँढने चाहिए। व्यायाम, योगा और मैडिटेशन से आप खुद को शांत कर पाएंगे और इससे आपके जीवन में थोड़ी सकारात्मकता भी आएगी। पूरे दिन में से कुछ समय अपने लिए निकालें जिसमे आप व्यायाम करें, मैडिटेशन करें या कोई भी ऐसी एक्टिविटी करें जिससे आपको रिलैक्स महसूस होता हो।

धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन ना करें – निकोटीन एक हमारे शरीर के लिए सबसे खतरनाक पदार्थ है और हम सभी निकोटीन से होने वाले कैंसर के बारे में जागरूक हैं। आपके स्वास्थ्य के आलावा इससे आपकी फर्टिलिटी पर भी बहुत असर पड़ता है।

रेडिएशन से खुद को सुरक्षित रखें – एक्स-रे, इलेक्ट्रॉनिक उपकरों, लैपटॉप इत्यादि में से एक ऐसी लौ ग्रेड रेडिएशन पैदा होती है जिससे हमारी फर्टिलिटी पर असर पड़ता है। इसीलिए आपके और आपके साथी के लिए यह बहुत ज़रूरी है कि आप दोनों इन उपकरों का इस्तेमाल करना कम करें और खुद को सुरक्षित रखने के कुछ स्टेप्स लें।

खुद को एसटीआई से सुरक्षित रखें – सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन से आपके स्वास्थ को बहुत बड़ा खतरा होता है और आपके अजन्मे बच्चे पर भी इसका असर पड़ता है। आपको हर थोड़े थोड़े समय बाद अपने टेस्ट्स करवाने चाहिय और अगर आप ब्लड ट्रांस्फ्यूज़न करवा रहे हैं तो आपको पहले से टेस्ट किया हुआ ब्लड ही चुनना चाहिय।

गर्मी से बचकर रहे – स्टीम बाथ और सौना से स्पर्म काउंट पर भी बहुत असर पड़ सकता है, तो आपको इन सभी चीज़ों के बहुत ज़्यादा सम्पर्क में नहीं आना चाहिये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *