बच्चे नींद में क्यों रोते हैं (baby randomly crying while sleeping)

बच्चे अकसर रोते हैं, हर उम्र में बच्चों का रोना आम बात है। छोटे बच्चों के रोने (baby randomly crying while sleeping) का कारण हैं! कि वे अपनी बात को सही तरह से कह नहीं पाते, जिससे अपनी बात को कहने के लिए रोने का सहारा लेते हैं। बच्चों के रोने का कम्यूनिकेशन से गहरा ताल्लुक है। इसीलिए आपके बच्चे अपनी बात कहने के लिए रोने का mintit.be सहारा लेते हैं। वैसे बच्चे के रोने के और भी कई कारण हो सकते हैं जिसे आपको समझना चाहिए। ज्यादातर बच्चों के साथ ऐसा होता है कि वे नींद से जागकर रोने लगते हैं। ऐसा कई बच्चों के साथ बहुत ज्यादा होता है तो कईयों के साथ बहुत कम। आइए जानें बच्चे रात को क्यों रोते हैं।

जब बच्चा इस दुनिया में जन्म लेता है|तो वह अपने अनुभवों से दुनिया को महसूस करने लगता है। नया सीखने की प्रक्रिया में बच्चा चीजों को महसूस करने लगता है. जिससे कई बार बच्चे को असहज भी महसूस होता है, नतीजन, बच्चा शुरूआती महीनों में अकसर नींद में असहज महसूस करता है। कई बार नवजात शिशुओं में छिकनें की समस्‍या होती है तो कई बच्‍चो के नींद में जगने की।

कई बार बच्चे के रोने (baby randomly crying while sleeping) का कारण शारीरिक परेशानियां होती है। इतना ही नहीं कई बार बच्चे के आसपास का तापमान बहुत गर्म या फिर बहुत ठंडा होता है जिससे बच्चे की नींद में खलल पड़ने लगता है और बच्चा नींद से जगकर रोने लगता है।कई बार बच्चे के सोने की जगह ठीक नहीं होती यानी बच्चा सोते हुए सहज नहीं होता तो भी बच्चा नींद से जगकर रोने लगता है।

खाने की जरूरत 

भूख किसी नवजात शिशु के रोने का सबसे बड़ा कारण है। किसी बच्चे के छोटे से पेट में इतने खाना नही आ पता के उसका पेट बहुत देर तक भरा रहे। इसीलिए अगर आपकी संतान रोती हे तो उसे दूध पिलाने की कोशिश करें, क्योंकि वह भूखी हो सकती|

आराम की जरूरत


कुछ शिशु अपनी नैपी बदलने की जरूरत पर बहुत ध्यान नहीं देते लेकिन कई दूसरे तुरंत ही चीख कर आपका ध्यान अपनी ओर खींचेंगे. खासकर तब, अगर उनकी कोमल त्वचा में खुजली या खुश्की हो. यह भी देखें कि कहीं नैपी बहुत कस कर तो नहीं बंधी है, या उसके कपड़े तो उसको परेशान नहीं कर रहे हैं.

गरमाहट चाहिए (न बहुत अधिक ठंड, न बहुत अधिक गर्म)


जांच करें कि आपकी संतान अपने बिस्तर में कहीं बहुत अधिक गर्म या ठंडा तो नहीं महसूस कर रही. इसे आप उसके पेट को छूकर पता कर सकते हैं (उसके हाथ या पैर से पता नहीं लगेगा, वे सामान्य तौर पर ठंडे होते हैं) . अगर उसका शरीर अधिक गरम है, तो एक कंबल हटा दें. अगर वह ठंडा है तो एक और उढ़ा दें. अपने बच्चे के कमरे का तापमान तकरीबन 64 डिग्री फॉरेनहाइट रहने दें.

मुझे गोद में आने की जरूरत है


कई बार आपका बच्चा केवल दुलार चाहता है. चिंता न करें, आप अपनी औलाद को शुरुआती कुछ महीनों में अधिक समय तक उठा भी लेंगे, तो वह बिगड़ नहीं जाएगी. बच्चे को बांधने या लटकाने का कोई जरिया (स्लिंग या कैरियर) आपकी इस मायने में मदद करेगा कि आपके दोनों हाथ दूसरे कामों के लिए मुक्त रहेंगे.

मुझे आराम की जरूरत है


नवजातों के लिए काफी सक्रिय रहना कठिन होता है. उसके रोने का एक मतलब होता है- बस, मेरे लिए काफी है. उसे किसी शांत और खामोश जगह ले जाएं. कुछ देर बाद आप पाएंगे कि वह सोने के लिए तैयार है.

मैं बीमार हूं


एक नवजात जो बीमार है, कई बार सामान्य रोने के ढंग से अलग तरीके से रोता है- यह अधिक शीघ्र या आवश्यक या तीव्र स्वर वाला हो सकता है. अगर आपको लगता है कि कुछ गलत है, तो अपने डॉक्टर या दाई को तुरंत बुलाएं. आपको हमेशा ही अपने डॉक्टर को बुलाना चाहिए, अगर आपकी संतान को रोने की वजह से सांस लेने में कठिनाई हो रही है. या इसके साथ ही उसे उल्टी, दस्त या कब्जियत भी है.

मुझे कुछ चाहिए…पर पता नहीं क्या


कई नवजात कई बार लगातार रोते हैं, अधिकतर यह आंत्रशूल (पेटदर्द) की वजह से होता है. इससे निबटना कठिन होता है, वहीं इसकी कोई जादुई दवा भी नहीं है. हालांकि आपके लिए यह जानना फायदेमंद होगा कि दर्द कभी भी काफी दिनों तक नहीं रहता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *